टेस्ट टीम में शामिल हुए धोनी, अश्विन और युवराज, कप्तान कोहली को नहीं मिली जगह!

bcciऐतिहासिक 500वें टेस्ट के मौके पर बीसीसीआई ने  क्रिकेट प्रशंसकों को भारत की ड्रीम टीम चुनने का मौका दिया था। 500वें टेस्ट में न्यूजीलैंड पर 197 रनों की जीत मिलते ही बीसीसीआई ने भारत की सर्वकालिक ड्रीम टीम की घोषणा कर दी। इस टीम में युवराज सिंह को जगह मिली है जो सबसे अधिक चौंकाने वाला चयन है। वहीं फेबुलस फाइव में से एक प्रिंस ऑफ कलकत्ता के नाम से मशहूर सौरव गांगुली को भी टीम में जगह नहीं मिली है। इसके अलावा टीम इंडिया के वर्तमान कप्तान विराट कोहली भी ड्रीम टीम में जगह बना पाने में नाकाम रहे हैं।

ड्रीम टीम में ओपनिंग बल्लेबाजी की जिम्मेदारी सुनील गावस्कर और नजफगढ़ के नवाब वीरेंद्र सहवाग को दी गई है। गावस्कर को 68 प्रतिशत और सहवाग को 86 प्रतिशत लोगों ने अपनी टीम में जगह दी है। तीसरे नंबर पर लोगों की पसंद द वाल और मिस्टर डिपेंडेबल के नाम से मशहूर राहुल द्रविड़ रहे। द्रविड़ को सबसे ज्यादा 96 प्रतिशत लोगों ने अपनी टीम में जगह दी। इसके बाद चौथे नंबर पर मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को जगह मिली है, लेकिन सचिन को केवल 73 प्रतिशत लोगों ने अपनी टीम में शामिल किया है।

पांचवें नंबर पर प्रशंसकोंं की पसंद वेरी वेरी स्पेशल लक्ष्मण रहे। वीवीएस लक्ष्मण को 56 प्रतिशत लोगों ने अपनी टीम में शामिल किया। इसके बाद छठवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए ऑलराउंडर कपिल देव को जगह मिली है। कपिल को 91 प्रतिशत लोगों ने अपनी टीम में शामिल किया है।

टीम की कप्तानी विकेट कीपर और भारत के सबसे सफल कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को सौंपी गई है। धोनी को कप्तान और विकेट कीपर के रूप में धोनी को 90 प्रतिशत लोगों ने चुना है। वहीं सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करने और टीम के दूसरे ऑल राउंडर के रूप में रविचंद्रन अश्निन को 56 प्रतिशत लोगों ने चुना। अश्विन ऑफ स्पिन की कमान संभालेंगे। वहीं  गेंदबाज के रूप में लोगों की पहली पसंद लेग स्पिनर अनिल कुंबले रहे। कुंबले के पक्ष में 92 प्रतिशत लोगों ने वोट किया।

तेज़ गेंदबाजी के आक्रमण की जिम्मेदारी प्रशंसकों ने  जवागल श्रीनाथ को सौंपी है जो ‘हरियाणा हरिकेन’ कपिल देव के साथ गेंदबाजी आक्रमण को पैना करेंगे।श्रीनाथ को 78 प्रतिशत लोगों ने वोट दिया। वहीं बाएं हाथ के तेज गेंदबाज के रूप में जहीर खान टीम में जगह बनाने में कामयाब रहे हैं। जहीर को 87 प्रतिशत लोगों ने वोट दिया।

इसके साथ ही टीम के 12 वें खिलाड़ी के रूप में चौंकाने वाला नाम युवराज सिंह का रहा जिनका टेस्ट करियर बेहद छोटा रहा। उन्हें भारत की टेस्ट टीम में कई बार शामिल किया गया बावजूद इसके वह अधिकांश समय बेंच की ही शोभा बढ़ाते रहे। यहां भी उन्हें 12 स्थान ही हासिल हुआ। उनके पक्ष में 56 प्रतिशत लोगों ने वोट किया।

पूर्व कप्तान सौरव गांगुली टीम में जगह नहीं बना सके। इसके साथ ही वर्तमान के सबसे लोकप्रिय भारतीय खिलाड़ियों में से एक टीम इंडिया के टेस्ट कप्तान विराट कोहली को जगह नहीं मिल सकी।

इस टीम में जो भी खिलाड़ी शामिल हैं। उनमें से केवल दो खिलाड़ी सुनील गावस्कर और कपिल देव हैं जिनका करियर 90 के दशक में आकर खत्म हुआ। इन दोनों  खिलाड़ियों को भारत में हर कोई पहचानता है। सत्तर के दशक के पहले के खिलाड़ियों को टीम में जगह नहीं मिल पाने का कारण यह भी हो सकता है कि इंटरनेट जनरेशन के जिन लोगों ने ड्रीम टीम के चयन में वोटिंग की है उन्हें सत्तर के दशक के पहले के खिलाड़ियों के खेल की जानकारी नहीं है। और  जो खिलाड़ी टीम में शामिल हैं। उनमें  सचिन को छोड़कर  बाकी सभी खिलाड़ियों का टेस्ट करियर 1990 के बाद शुरू हुआ था।

वर्तमान खिलाड़ियों में केवल अश्विन ही इस टीम में हैं। युवराज लंबे समय से टेस्ट टीम से बाहर हैं। बाकी दस खिलाड़ी टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं।

Random Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*